Web Hosting Kya Hai – What Is Web Hosting In Hindi – Ttechnews

Web Hosting Kya Hai – दोस्तो आज के समय में आप सभी इंटरनेट का यूज़ करते है और वहाँ तरह तरह की वेबसाइट देखते है और उनपर विजिट करते है और अपने काम की जानकारी हासिल करते है, लेकिन कभी आपने सोचा है कि वेबसाइट पर जो इतना सारा डेटा होता है वो कहा पर स्टोर होता होगा और वो सेफ भी होता है या नहीं , तो आपके इन्ही सवालो के जबाब हम इस लेख में आपको देंगे।

वेबसाइट का जो भी डेटा होता है चाहे वो text हो या इमेज या फिर कोई movie या कोई song वो सब डिजिटल फॉरमेट में सेव होते है और उन्हें सेव करने बाले सिस्टम को Hosting कहते है, जिस पर किसी भी साइट का सारा डेटा सेव होता है।

दूसरे शब्दों में कहे तो जितनी भी Website है उन्हें इंटरनेट पर शो कराने बाले सिस्टम को वेब होस्टिंग कहते है , अगर आप भी अपने लिए खुद की एक वेबसाइट बनाने जा रहे है या आपको यह जानकारी चाहिए कि Web Hosting Kya Hai और यह कितने तरह की होती है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए।

Web Hosting Kya Hai ? ( What Is Web Hosting In Hindi )

जब भी आप कोई वेबसाइट बनाते है या Blog बनाते है तो उसकी सभी फाइल्स को जैसे कि इमेज , वीडियो , text आदि सभी को  आपको एक सर्वर में स्टोर करना होता है, जिससे दूसरे यूज़र्स इंटरनेट की मदद से उसे देख सके या access कर सके। वेब hosting वह सर्विस है जिसकी मदद से हम अपनी किसी भी वेबसाइट को इंटरनेट पर डाल सकते है।

किसी भी वेबसाइट को होस्ट करने के लिए एक दमदार सर्वर की जरूरत होती है जो 24 घंटे बिना किसी टेक्निकल प्रॉब्लम के इंटरनेट से जुड़ी रहे जिससे हमारे यूज़र्स को कोई भी परेशानी न हो।

Web Hosting Kya Hai

लेकिन इस तरह के सर्वर को हम खुद से मैनेज नही कर सकते है, क्योंकि इसके लिए हमे बहुत बड़ा सिस्टम चाहिए होता है, और उसे देखने के लिए बहुत लोग भी चाहिए होते है जिनकी cost बहुत ज्यादा होती है.

हम अपनी साइट के लिए होस्टिंग कंपनी का use करते है , इन हॉस्टिंग कंपनियों के पास खुद का पावरफुल सर्वर और अच्छे टेक्निकल स्टाफ होते है, जो कि इसकी देखभाल 24 hour करते है जिससे हमें कोई दिक्कत न हो।

हम इन्ही होस्टिंग कंपनी से अपनी वेबसाइट के लिए space खरीद लेते है, जिसे दूसरी भाषा में वेब होस्टिंग कहते है। जहाँ हम अपने data को स्टोर कर पाते है।

वेब hosting कितने प्रकार की होती है। ( Type Of Web Hosting In Hindi )

Web होस्टिंग वैसे तो बहुत तरह की होती है , लेकिन सभी होस्टिंग का use अलग अलग तरह से होता है और हम अपनी वेबसाइट के अनुसार ही होस्टिंग लेते है यह 4 तरह की होती है –

  • Shared होस्टिंग
  • Vps होस्टिंग
  • Cloud होस्टिंग
  • Dedicated hosting

1. Shared होस्टिंग क्या है ?

इसका जैसा नाम है वैसा ही इसका काम भी है , इस होस्टिंग में एक ही समय पर अनेको वेबसाइट एक ही सर्वर का यूज़ कर रही होती है। जिसमें वो सभी वेबसाइट एक साथ एक ही सर्वर के ram ओर CPU का use कर रहे होते है, इसीलिए यह होस्टिंग काफी सस्ती पड़ती है.

इनका उपयोग सिर्फ नए Bloggers ही करते है, क्योंकि शुरू में उनके पास ज्यादा ट्रैफिक नही होता है. अगर आपकी वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक आता है तो यह होस्टिंग आपके लिए सही नही है.

आप तब भी इस होस्टिंग का यूज़ करते है तो आपके ब्लॉग या वेबसाइट की स्पीड कम हो सकती है और error भी देखने को मिल सकती है, कभी कभी ज्यादा ट्रैफिक की वजह से आपका ब्लॉग या वेबसाइट crash भी हो सकती है।

इस तरह की होस्टिंग बड़े बिजनेस या बड़ी साइट के लिए सही नही होती है, इससे उनकी गूगल रैंकिंग पर बहुत बुरा असर पड़ता है, यह होस्टिंग उनके लिए अच्छी है जिनके ब्लॉग या वेबसाइट नई है और उनके पास ज्यादा ट्रैफिक नही है।

2. Vps होस्टिंग क्या है?

यह होस्टिंग shared होस्टिंग और dedicated होस्टिंग का एक मिक्सर है, यानी कि इसमें इन दोनों ही होस्टिंग के गुण पाए जाते है, इस तरह की होस्टिंग में आपको एक खास  dedicated सर्वर दिया जाता है। जिसके ऊपर बस आपका ही अधिकार होता है.

इस होस्टिंग में यूजर को शेयर्ड होस्टिंग की तुलना में अधिक स्पेस , मेमोरी, स्पीड, और bandwidth मिलती है , इस तरह की होस्टिंग में आपकी वेबसाइट या आपके ब्लॉग के पेज काफी तीव्र गति के साथ खुलते है जो कि गूगल में आपको रैंक करने में मदद करते है।

इस तरह की होस्टिंग का यूज़ आप अपनी किसी भी तरह की वेबसाइट को होस्ट करने के लिए कर सकते है, फिर चाहे वो ब्लॉग या वेबसाइट बड़ी हो या छोटी, लेकिन इस होस्टिंग की भी लिमिटेशन होती है, ज्यादा यूज़र्स एक साथ होने पर यह गड़बड़ करने लगती है।

3 . Cloud होस्टिंग क्या है ?

दोस्तो डेडिकेटेड होस्टिंग और vps होस्टिंग की एक प्रॉब्लम है कि इनके अंदर आपको कम resource और कम मेमोरी और कम केपेसिटी मिलती है, जो कि एक लिमिट में बंधी होती है, बहुत सी वेबसाइट इस लिमिट को क्रॉस नही कर पाती है लेकिन कभी कभी अचानक से आपकी साइट पर बहुत सारा ट्रैफिक आ जाता है तो इस तरह की होस्टिंग ठप्प बैठ जाती है और आपकी साइट क्रैश हो जाती है।

और इन सभी दिक्कतों से बचने के लिए आपको cloud Hosting ही use करनी चाहिए, क्योंकि यहाँ कोई एक सर्वर नहीं बल्कि बहुत सारे सर्वर एक साथ आपकी वेबसाइट को होस्ट करते है।

पिछले कुछ वर्षों से यह होस्टिंग बहुत ज्यादा पॉपुलर हुई है, क्योंकि यह बाकी सभी होस्टिंग से बेस्ट है, इस होस्टिंग पर आपकी साइट का high ट्रैफिक भी आराम से हैंडल हो जाता है।

यह होस्टिंग फ्लेक्सिबल होस्टिंग है इसमें हम अपने हिसाब से इसकी  डिस्क स्पेस और इसकी मेमोरी को बढ़ा और घटा सकते है , इस तरह की होस्टिंग को बड़े बड़े ब्लॉग और वेबसाइट use करते है।

4. Dedicated होस्टिंग क्या है ?

इस तरह की होस्टिंग में पूरे सर्वर पर आपका खुद का ही अधिकार होता है, इस तरह की होस्टिंग लेने में बहुत तरह के फायदे मिलते है. इसीलिए यह थोड़ी सी महँगी होती है, इस होस्टिंग में हम अपनी वेबसाइट के साथ साथ अपने सर्वर पर भी पूरा कंट्रोल कर सकते है।

इस तरह की होस्टिंग में आपका हाई ट्रैफिक और स्पीड और इसकी परफॉर्मेंस काफी तेज रहती है जिससे आपकी साइट की रैंकिंग अच्छी होती है।

आज आपने Web Hosting के बारे मे जाना –

आज आपने होस्टिंग के बारे में जाना कि Web Hosting Kya Hai, और यह कितने तरह की होती है, और हमें कौन सी होस्टिंग लेनी चाहिए किस होस्टिंग में किस तरह की परफॉर्मेंस मिलती है , इन सभी सवालों के जबाब आपको मिल गए होंगे, अगर आपके होस्टिंग से जुड़ी ओर कोई भी जानकारी चाहिए हो तो आप यहाँ कमेंट करके अपने सवालो के जबाब पा सकते है ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!