What is Database In Hindi – डेटाबेस की विशेषताएं – Ttechnews

What is Database in Hindi और database model के प्रकार के बारे में आपको पता ही होगा अगर नहीं है और आप जानना चाहते है तो हम इस आर्टिकल की मदद से हम आपको database in hindi के बारे में बताएँगे।

आपको यह मालूम नहीं होगा की वर्तमान समय में database की Information की इतनी ज्यादा आवश्यकता है। Information की Information आपको internet पर खोजने से मिल ही जाती है। आप अगर database की Information जानना चाहते है तो आपको सिर्फ Mobile की मदद से  Browser में या फिर google में search करना है।

आप जब भी Browser में या फिर google में इसके बारे में सर्च करेंगे तो आपको इसकी सभी की सभी जानकरी आपके सामने ओपन हो जायेगे। कई सारी Company अपने Employees की Information जैसे की Name, Salary, IDno, Address और student के बारे में बात की जाये तो College और Schools की सभी जानकरी यानि की Name, Roll no, Address, City यह सब आज के समय में internet पर रखा जाता है और यह कुछ ही लोगो को पता है।

एक  उदहारण के तौर पर कहु तो india के जितने भी Aadhar Card है वह सारे Internet पर ही तो है। उन सभी लोगो की जानकरी हमें इंटरनेट पर मिल जाती है। इसके अलावा Banks और Online Reservation यानि की Train, Flight, Hotel जिसमें भी database का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन यह कुछ समय बाद बदल दिया जाता है।

Bank में Transaction Computer or mobile की मदद से किया जाता है. वह भी data रहता है परन्तु Transaction भी लाखो के आंकड़ों में किया जाता है। यह पढ़ने के बाद आपके मनमे अजीब से सवाल आएंगे की यह इतना सारा किया गया Transaction Details Store कहा सेव की जाती है।

कई बार आप भी यह सोचते होंगे की internet में  ऐसी किस तरह से कई सारे data और Information रखे जाते है ऐसी कोनसी जगह है। आपको बता दे की Database के  बगैर internet कुछ भी नहीं है। तो फिर चलिए आज के हमारे आर्टिकल  Database in Hindi और Database kya hai इसके बारे में हम विस्तृत से जानेंगे। तो आप हमारे साथ जुड़े रहिये।

What Is Database In Hindi – Database kya hai

कई लोगो का यह सवाल है की Database kya hai . आपको बता दे की Database को टुंक में DB कहते हैDatabase Information यानि की जानकरी का बड़ा संग्रहालय। जहा पर उससे Related Information को Collection कर के इंटरनेट पर रखा जाता है। Database में Information को एकठ्ठा करके रखा जाता है।

Database In Hindi

Organised का अर्थ यह है की सजा के रखना। जिस तरह से आप अपने room , books , table को सजाते रखते है उस तरह Information और data को Database  में सजाके रखा जाता है। यह सारी जानकरी Store करने के लिए आपको कुछ Software की मदद लेनी पड़ेगी। Example से आपको बताऊ तो MS-Excel यहाँ पर आप सारे data को Digital Memory Devices सेव कर सकते है।

Database In Hindi में Information को इस तरह से रखा जाता है जिसकी आपको जब जरुरत पडे उस समय आप बड़ी आसानी से उस जानकारी को Access कर सके और उसमे कुछ Manipulate भी कर सके।

Example :

आपको हम उदाहरण की मदद से आपको समजाते है मानो की एक MS-Excel Sheet है जहा आप  100 Students की Details रखी है। Details में जैसे की Roll NO, name , Address, City Name, Father’s Name, Date of Birth इसको आप अब यह भी कह सकते है की यह Excel Sheet एक Database है।

आपको अब हम DB के बारे में जानकरी देंगे। db का अर्थ DataBase की Information और data है। इसको आप जब भी आपका मन करे तब आप उसका इस्तेमाल कर सकते है। अब आपको Access का अर्थ समजाते है। मानो की एक बड़ी University है इसमें करीबन 5000 student है और उनकी exam ख़त्म हो गई है।

इसे भी पढ़े –

अब उनकी exam के Results को Computer के इस्तेमाल से Database में Upload करते है और यह भी हो सकता है की University की खुद की भी Official website हो सकती है। वहा पर डाटा अपलोड होने के बाद Students Result का database बन जाता है।

इसके बाद जब भी Result आने की तारीख आती ही उस समय उस website की मदद से student के सारे result Publish किये जाते है। उस समय student खुद के roll no डालकर result देख सकते है। और यही Process को Database को Access करना कहा जाता है।

internet पर ऐसे कई तरह के Database होते है जैसे की Google , Company , Government का database जहा पर काफी सारी जानकारी राखी जाती है।

Database Management System  –

  1. इस तरह से कई सारे Software System है। जिसकी मदद से user, database को Create, Define, Maintain Control  करता है. इसमें DBMS, Programs का Collection है. आमतौर पर Database(DB) को Maintain करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।
  2. अब आपको Maintain का अर्थ समजाते है इसमें आप भी सब कुछ कर सकते है। जिस तरह Data को DB में Insert Edit, Delete, Access or Update कर सकते है।
  3. अब आप जान गए होंगे की Database Management System DBMS kya hai. अब हम फिर से समझते है की DBMS एक Software package है। यह  Software की मदद से आप Database को Create कर सकते है। जैसे की आपने एक Database बनाया इसके आपको Students के Details को add करे।
  4. अगर आपकी किसी गलती की वजह से data गलत add हो जाता है, उस समय आपको Student details Edit करना होगा और कुछ समय बाद पता चल जायेगा की किसी student का data गलत है, तो आपको roll no से उसका नाम और Address search करते है उस चीज को बोलते है Access .
  5. अब आप समज गए होंगे की  DBMS क्या – क्या करता है यही example की मदद से आप एक Company में भी लगा सकते हो वहा पर भी आपको सेम प्रोसेस करनी है।

डेटाबेस के उदाहरण –

1. Dbase :

  • हम अब Database के बारे में बताएंगे। इसमें में से Dbase पहले बनाया गया था। इसका उपयोग Microcomputers में किया जाता था। इस समय यह software सबसे अधिक Successful DBMS माना जाता था।
  • DBASE में यह सारे Component किया करते थे जैसे की Database Engine, Query system, a forms engine इस तीनो को चलाने के लिए एक Programming Language का इस्तेमाल किया जाता है। और इस फाइल का Extension dbf  रहता है।
  • Ashton-Tate नाम की Company ने साल 1980 में Dbase को Publish किया था। Microcomputer के os इसे यूज़ करने के लीये DBMS की मदद ली जाती है। इसके बाद इसका उपयोग Apple- || or IBM PC में भी किया जाता है।
  • यह दोनों ही dos os पे इस्तेमाल किया जाता है। कई वर्षो के समय तक Dbase को Best Selling Software of the Year के पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। Dbase-||| Release हो जायेगा तो  UNIX or VMS को भी run करवा सकते है।

2. FoxPro :

  • यहाँ पर text-based procedurally oriented programming language अलावा यह Database Management System भी मौजूद है। और यह Object Oriented Programming Language है. पहली  बार यह Fox Software Publish किया था।
  • परन्तु Microsoft ने FoxPro को  MS-DOS, Windows और Unix version में चलाने के लिए ज्यादा Develop किया गया। और इसका नाम वर्तमान  में Visual FoxPro है। परन्तु कुछ साल के पश्च्यात यानि की 2007 में इसको बंद कर दिया।

3. IMS :

IMS में Database को data Store करने के लिए hierarchical model को Follow किया जाता है जिसमे  DB2 or  Relational Model से कई अलग तरह से होते है। कईबार Information Management  के लिए  DBMS की मदद लेते है।

4. Oracle :

Oracle को Oracle RDBMS के नाम से भी जाना जाता है। यह एक object-relational database management system है. वर्तमान समय में इसका अधिक इस्तेमाल किया जाता है। और यह software Company का name Oracle Corporation. Larry Ellison नाम से पहचानी जाती है। उनके 2 फ्रेंड्स corporation के CO-Founder थे।

5. MySql :

  • यह भी एक तरह की object-relational database management system मानी जाती है। उसका name CO-Founder Michael Widenius daughter के name से रखा गया था और SQL का अर्थ Structured Query Language होता है।
  • यह DBMS Software Company name mySQL AB जिसका गठन साल 1995 में किया गया था। इस वक्त Company के मालिक Oracle Corporation है।

6. DB2 :

DB2 एक Database In Hindi का प्रोडक्ट है। यह RDBMS है और इसका अर्थ यह है की Relational Database Management System . इसका उपयोग डाटा को डेटाबेज में स्टोर , एनालिज और Retrieve करवाने के लिए किया जाता है। db2 Object Oriented के कॉन्सेप्ट को भी  फॉलो कर सकते है।

Database Operations –

  1. Insert :

अगर किसी डाटा को स्टोर किया है तो उसको Insert Operation कहते है। जिस तरह एक स्टूडेंट डेटाबेज है वहा आप Name, Roll, Mark, City Data Insert करते हैं।

  1. Delete :

डेटा या अन्य Record को Database की मदद से Delete कर सकते है। यह Operation को Delete Operation से जाना जाता है। आपको यह  Delete करने के लिए कुछ Programming Language की मदद ले सकते है।

  1. Update :

जो भी जानकरी या फिर डेटा पहले से ही है और और उसमे आप कुछ चेंज करना चाहते है तो उसे कहते है Update करना। आपको एक उदहारण  से समजाता हु की एक Student की family दूसरे शहर में शिफ्ट हो गए है और उनके Database से  उनके अड्रेस को बदलना पड़ेगा इसे अपडेट कहते है।

  1. Search/Access :

एक ही जानकरी या फिर या Group of Information को खोजना इसी को Search या Access Operation कहा जाता है। जैसे की Result , Balance Inquiry , ट्रेन टिकट Available है यह नहीं,  यह सारी जानकरी देखना Search Operation कहा जाता है।

Database Model के प्रकार – Type Of Database Model

Database में Data Logically स्टोर , Organised or Manipulate  किया जाता है। इसके साथ आपके  Database In Hindi का Logical Structure किस तरह से होना चाहिए यह आपको Data Model बताता है।

आपको समजाने के लिए कहा जाये तो आपके परिवार की जानकरी लिख कर के कुछ इस तरह से आप कई तरह के table बना सकते है।  इसके अलावा कई अन्य table भी आप बना सकते है। और तीसरा table आप मम्मी – पापा के नाम और उनके निचे  बच्चो के नाम लिख कर आप  टेबल बना सकते है।

हमने आपको Data Model के तीन तरीके बताये इस तरह से Database Design में यह तीन मॉडल का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे की Hierarchical Model , Network Model , Relational Model है। चलिए इस्क्के बारे में और जानकरी देखते है।

  1. Hierarchical Model :

Hierarchical Model का स्ट्रक्चर दिखाई में Tree Structure जैसा लगता है। यह मोडल में रिकॉर्ड को आपस में कनेक्स्ट करने के लिए Tree Structure का इस्तेमाल किया जाता है। क्योकि इसमें Nodes और Branches मिलते है।

Tree Structure का अर्थ यह होता है की जैसे की पेड़ की  शाखाये होती है इस तरह इसमें भी सेम  ही  प्रोसेस होती है। इस Tree डेटाबेज के लॉजिकल स्ट्रक्चर को Represent  किया जाता है।

  1. Network Model :

अधिक Powerful माने जाना वाला Network Model है परन्तु यह Complicated भी है। क्योकि इसमें कई सारे Nodes/Table आपसमे कनेक्ट यानि की Linked किये जाते है। यह मॉडल को Graph Structure में Represent भी कर सकते है। इसमें आप डिपार्टमेंट , स्टूडेंट , कोर्स , प्रोफ़ेसर यह चारो को आपसमे कैसे कनेक्ट करे इसके बारे में आप निचे के मॉडल में देख सकते है।

  1. Relational Model :

Relational Model आमतौर पर देखा जाये तो यह सिंपल है लेकिन बहित ही ज्यादा  powerful भी है। यह बहुत फेक्सिबल और नेचरल है।   इसमें डेटा मॉडल का स्ट्रक्चर टेबल किया जाता है उस टेबल को डेटाबेज की भाषा में रिलेशन कहते है। इसकी वजह से इसका नाम भी Relational Model से जानते है।

रिलेशनल मॉडल क्या किया जाता है तो इसमें Rows को Record किया जाता है और  Column को Field कहते हैं। इस मोडल में Unique Field को Key के नाम से जानते है। और यह Keys की मदद से Tables को आपसमे कनेक्ट किये जाते है।

Database के Components –

  1. Database User :

इसमें ऐसा यूजर है जिसको डेटाबेज को कही से भी एक्सेस करता है और उनको search करते है। क्या आप भी इस तरह के यूजर हो की आपको जिसकी जानकारी चाहिए उसे सर्च करके पढ़ने के  बाद निकाल देते है। लेकिंन आप इसकी जानकारी का पता नहीं लगाते की इस जानकारी को कहा से store किया गया है। यह जानकारी आपके पास नहीं होती।

  1. DBA :

DBA ka Full Form kya hai तो आपको बता दे की इसको Database Administrator से जानते है। इसको मैनेजर कहते है और यह पूरी सिस्टम को चलाता है। यह यूजर की Needs को  अच्छी तरह से समझता है और उसके अनुसार मैनेज और अपडेट करता है।

  1. Application Program :

DBMS एक सॉफ्टवेर प्रोग्राम है इसको पुरे db को मैनेज करने के लिए इसकी मदद लेनी पड़ती है आपको पहले भी DBMS kya hai इसके बारे में जानकारी बताई गई है।

निष्कर्ष –

हमने आपको इस लेख की मदद से What Is Database in Hindi के बारे में  जानकारी बताई। इसके साथ – साथ हमने आपको Database kya hai  , database management system , Database Operations , डेटाबेस के उदाहरण और इसके  Database Model के प्रकार  के बारे में सारि जानकारी प्रदान की है.

अगर आप समज गए होंगे की डेटाबेस सिस्टम क्या है ? और यह किस तरह से काम करती है। आपको मेरा यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो हमें कमेंट करके सपोर्ट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे। धन्यवाद।

Leave a Comment

error: Content is protected !!